लातेहार हमले में नक्सलियों ने सुरक्षाकर्मियों के ग्यारह हथियार लूटे, मृतकों की संख्या 11 हुई

 लातेहार हमले में नक्सलियों ने सुरक्षाकर्मियों के ग्यारह हथियार लूटे, मृतकों की संख्या 11 हुई

रांची, चार दिसंबर:सीएमसीः झारखंड में चतरा के सांसद इंदर सिंह नामधारी पर कल षाम साढ़े पांच बजे लातेहार में घात लगाकर हमला कर नक्सलियों ने जहां दस सुरक्षाकर्मियों समेत ग्यारह लोगों की हत्या कर दी वहीं उन्होंने सुरक्षाकर्मियों की ग्यारह राइफलें, डेढ़ हजार राउंड गोलियां और अन्य हथियार व उपकरण भी लूट लिये।

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता महानिरीक्षक आर के मलिक ने बताया कि नक्सलियों ने कल षाम चतरा के सांसद इंदर सिंह नामधारी के साथ चल रहे सुरक्षा वाहन पर घात लगाकर हमला करने के बाद सुरक्षाकर्मियों की दो सेल्फ लोडिंग राइफलें, नौ इंसास राइफलें, डेढ़ हजार राउंड गोलियां, वायरलेस सेट और अन्य हथियार और उपकरण लूट लिये और पास जंगलों में फरार हो गये।

उन्होंने बताया कि सांसद के साथ चल रहे सुरक्षा वाहन टाटा 407 पर एक सहायक पुलिस उपनिरीक्षक समेत बारह पुलिस कर्मी सवार थे और नक्सलियों के हमले में सहायक पुलिस उपनिरीक्षक समेत दस पुलिस कर्मी और हमले के स्थान के समीप की बस में बैठा एक आठ वर्शीय बालक मारे गये जबकि वाहन के चालक और एक अन्य घायल पुलिसकर्मी को रांची लाकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों घायलों की स्थिति गंभीर बनी हुर्ह है। इनके अलावा बस में बैठी एक लड़की भी हमले में गंभीर रूप से घायल हुई है और उसे भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इस नक्सली हमले में नामधारी तो बाल बाल बच गये लेकिन उनके पीछे चल रहा पुलिस का सुरक्षा वाहन नक्सली हमले की चपेट में आ गया जिससे उसमें सवार एक सहायक पुलिस उपनरीक्षक समेत दस जवानों और एक बालक की मौत हो गयी जबकि तीन अन्य लोग घायल हो गये।

   लातेहार में गारू थानांतर्गत लाडू मोड़ के पास कल षाम लगभग साढ़े पांच बजे नक्सलियों ने चतरा के निर्दलीय सांसद इंदर सिंह नामधारी के काफिले पर घात लगाकर हमला किया जिसमें सांसद तो बाल बाल बच गये लेकिन उनकी सुरक्षा में चल रहा सुरक्षाकर्मियों का वाहन इसकी चपेट में आ गया जिससे एक बालक और एक सहायक पुलिस उपनिरीक्षक समेत सात पुलिसकर्मियों सहित आठ लोग मौके पर ही मारे गये। बाद में डालटनगंज में अस्पताल में भर्ती कराये गये तीन अन्य सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गयी जिन्हें मिलाकर नक्सली हमले में मारे गये सुरक्षाकर्मियों की संख्या दस तक पहंुच गयी।

  सांसद की सुरक्षा टीम का नेतृत्व लातेहार में गारू थाने के सहायक पुलिस उपनिरीक्षक भीम टुडू कर रहे थे और वह इस हमले में षहीद हो गये। उनके अलावा षहीद होने वाले पुलिस कर्मियों में एक हवलदार और आठ जवान षामिल हैं।

मलिक ने बताया कि सुरक्षा वाहन के वहां से गुजरते समय ही नक्सलियों ने वहां आइ ई डी विस्फोट कर दिया जिससे वाहन पूरी तरह छिन्न भिन्न हो गया। बाद में आसपास छिपे नक्सलियों ने काफिले पर गोलीबारी भी की ।

  नक्सली हमले में मारे जाने वालों में एक आठ वर्शीय बालक भी षामिल था जबकि एक अन्य लड़की गंभीर रूप से घायल है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

  उन्होंने बताया कि राजधानी रांची से लगभग 160 किलोमीटर दूर स्थित घटनास्थल पर बड़ी संख्या में और अर्धसैनिक बलों और सुरक्षा कर्मियों को भेजा गया है।

मलिक ने बताया कि लातेहार के महुआटांड इलाके में एक कार्यक्रम में भाग लेकर मेदिनीनगर वापस लौट रहे सांसद इंदर सिंह नामधारी की गाड़ी जैसे ही लाडू मोड़ से आगे बढ़ी सड़क पर रिमोट कंट्रोल से नक्सलियों ने जबर्दस्त विस्फोट किया जिसकी चपेट में नामधारी की गाड़ी के पीछे चल रहा सुरक्षा वाहन आ गया।

  इंदर सिंह नामधारी ने बताया कि वह सुरक्षित हैं। उन्होंने बताया कि विस्फोट से उनकी गाड़ी भी बुरी तरह हिल गयी लेकिन उनके चालक ने तेजी से कार आगे बढ़ायी और मेदिनीनगर पहुंचा दिया। उनके पीछे चल रहे सुरक्षा वाहन के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं थी।

  मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा ने इस घटना की कड़ी निंदा की है और कहा है कि राज्य सरकार ऐसे तत्वों से कड़ाई से निपटेगी। उन्होंने मृतकों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की है।

 मुख्यमंत्री ने घटना पर गृह विभाग से रिपोर्ट तलब की है और पूछा है कि आखिर नक्सली नेता किषनजी के मारे जाने के बाद चेतावनी के बावजूद सासंसद की सुरक्षा में लापरवाही क्यों हुई।