भ्रष्टïाचार रोकेने में मदद देगा कम्प्यूटर

 

भ्रष्टïाचार रोकेने में मदद देगा कम्प्यूटर

केन्द्रीय उत्पाद व सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) अब भ्रष्टïाचार के प्रतीक के बदले एक बिलकुल बदली हुई संस्था के रूप में अपनी पहचान बनाएगा।

पूर्व वि७ा राज्यमंत्री जी.एन. रामचंद्रन के निजी सहायक द्वारा रिश्वत लेने के भंडाफोड़ कांड ने हमारी आंखें खोल दी हैं। ये बात बोर्ड के नवनियुक्त चेयरमैन ए के सिंह ने कही है।

सिंह ने कहा कि इस दिशा में बोर्ड देशभर के आयात कर कार्यालयों के पूरी तरह से कम्प्यूटरीकरण किए जाने को अपनी बड़ी प्राथमिकता मेें रखेगा।

बोर्ड के नए चेयरमैन ने कहा है कि चालू वि७ा वर्ष के अंत तक देश का करीब 95 फीसदी अंतरराष्टï्रीय व्यापार कम्प्यूटर चालित आयात कर कार्यालयों के मार्फत होना संभव हो जाएगा जो अभी 75 फीसदी है।

नए चेयरमैन ने कहा कि केन्द्रीय उत्पाद व आयात कर विभाग के कामकाज को सूचारु बनाने के लिए इसकी पूरी मशीनरी में बदलाव लाया जाएगा। इसके तहत राजस्व खुफिया निदेशालयों के अधिकारों को विकेन्द्रीकृत किया जाएगा।

सिंह ने विभाग के अधिकारियों को इस बात की पुष्टिï की कि अब मंत्री से लेकर सचिव स्तर के अधिकारियों तक के फोन कॉल अब राजस्व खुफिया निदेशालयों द्वारा टेप किए जाते हैं।

नए चेयरमैन राजस्व खुफिया ३यूरो को ज्यादा अधिकार संपन्न बनाए जाने के खिलाफ हैं। इनका मानना है कि ये वास्तव में कोई बेहतर काम करने के बजाए राजस्व वसूली की प्रक्रिया को बाधित करते हैं और इनकी अड़ंगेबाजी की वजह से कर वसूली में भी कमी आती है।

सीबीईसी चेयरमैन ने कहा कि उत्पाद कर बकाये के मामले निपटाने के लिए लोक अदालतों की तर्ज पर शिविर लगाए जाएंगे और नागरिक समितियां बनाई जाएंगी।

बोर्ड ने एक ऐसा प्रस्ताव तैयार कर केन्द्रीय वि७ा मंत्रालय को उसकी स्वीकृति के लिए भेजा है जिस पर अगली जुलाई माह तक कोई कोई फैसला ले लिया जाएगा।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक ए.के. ंिसंह को सीबीईसी के चेयरमैन क ा पद बड़ी गहमागहमी के बाद मिला। वि७ामंत्री जसवंत सिंह इनके व्य०ितत्व से प्रभावित नहीं थे। इसके पूर्व एम.के. जुश्शी का कार्यकाल दो-दो बार बढ़ाया गया था।

सिंह को यह पद प्रधानमंत्री के मुख्य सलाहकार ब्रजेश मिश्र और कैबिनेट सचिव कमल पांडे से नजदीकी संबंधों की वजह से प्राप्त हुई है।

ए.के. सिंह के भाई भारतीय विदेश सेवा में ब्रजेश मिश्र के बैचमेट रह चुके हैं। सिंह ने अपना कार्यभार संभालने के बाद जो पहला आदेश दिया वह कस्टम ०लीयरेंस के लिए बिलकुल पेपरलेस साफ्टवेयर इंडियन कस्टम्स इडीआई सिस्टम के त्वरित क्रियान्वन को लेकर था।

फिलहाल यह प्रणाली देश भर के सिर्फ 23 कस्टम कार्यालयों में लागू है।

माइक्रोसॉफ्ट में भारतीय डवलपर्स की बढ़ती साख

आज की तारीख में आईटी क्षेत्र में भारत के डवलपर्स की साख का आलम यह है कि दुनिया की नंबर वन आईटी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट अगले पांच वर्षों के दौरान अपनी टैक्नोलॉजीस में इनकी संख्या बढ़ाकर दोगुनी करने के लिए 10 करोड़ डॉलर का निवेश करने को तैयार है।

मौजूदा वक्त में माइइक्रोसॉफ्ट टैक्नोलॉजीस में कुल 8 अरब डॉलर के विदेशी कार्यबल का 20--25 फीसदी हिस्सा भारतीय डवलपर्स का ही है।

भारत में लगभग 3000 कंपनियों में कार्यरत 2.5 लाख डवलपर्स और हजारों प्रोडक्ट सपोर्ट एग्जीक्यूटिव्स माइक्रोसॉफ्ट टैक्नोलॉजीस के लिए काम कर रहे हैं।

चूंकि दुनिया के कॉर्पोरेट्स घराने भारत को अपने कम्प्यूटर संबंधी उत्पादों के लिए आउटसोर्सिंग की उपयोगी मंजिल मानते हैं, माइक्रोसॉफ्ट भी भारत में निवेश बढ़ाने के अलावा सिस्टम इंटीग्रेटर्स, कन्सल्टेंट्स व एप्लीकेशन डवलपर्स के साथ करार करने में जुटी है।

माइक्रोसॉफ्ट के लिए भारत का महत्व इसलिए भी है क्योंकि दुनिया के ज्यादा से ज्यादा सिस्टम इंटीग्रेटर्स और कम्प्यूटर सर्विसेस कंपनियां भी यहां अपना कारोबार बढ़ाने में जुटी हैं।

माइक्रोसॉफ्ट के एचपी और टीसीएस जैसी भारतीय सहयोगी कंपनियों ने एक ओर इसके लिए मैसेजिंग और पोर्टल सॉल्यूशंस विकसित किए हैं, वहीं विप्रो ने वर्कफ्लो एप्लीकेशंस विकसित की हैं।

भारत स्थित अकेली एचपी में ही 200 से ज्यादा माइक्रोसाफ्ट सर्टिफाइड प्रोफेशनल्स काम कर रहे हैं।

एयर इंडिया की शंघाई के लिए विमान सेवा, वीरवार और शनिवार को रवाना होंगी फ्लाइट्स

चीन के साथ आर्थिक और व्यापारिक रिश्ते सुधारने की दिशा में सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनी एयर इंडिया ने शंघाई शहर के लिए अपनी पहली विमान सेवा शुरू की।

मुंबई-दिल्ली-बैंकॉक-शंघाई की यह विमान सेवा सप्ताह में दो बार अर्थात वीरवार और शनिवार को रवाना होगी।

चीनी एयरलाइंस भी पेइचिंग से दिल्ली के लिए हर मंगलवार और शनिवार को उड़ान भरेगी। भारत से चीन के लिए रवाना हुए इस यात्री विमान एआई.348 में 200 यात्री थे।

इस मौके पर एयर इंडिया के जनसंपर्क निदेशक जितेंदर भार्गव ने बताया कि भारत और चीन विश्व में उभरती हुई आर्थिक महाशक्तियां हैं।

एयर इंडिया की शंघाई में मौजूदगी और सप्ताह में दो उड़ानों से व्यापार के साथ-साथ लोगों का आपसी संपर्क बढ़ेगा।

इससे पर्यटन क्षेत्र को काफी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि दोनों देश अपनी विमान सेवाओं की समीक्षा अगले वर्ष अप्रैल एवं मई के दौरान करेंगे और इस दौरान उड़ानों की संख्या बढ़ाने पर विचार किया जाएगा।

भार्गव ने कहा कि इस वर्ष जून में प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जून यात्रा से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा मिला है ओर चीन ने अब भारत को पर्यटन क्षेत्र की सूची में शामिल कर लिया है।

बीएसई में तेजी जारी, सेंसेक्स 5300 पर

बैंकिंग और तेल कंपनियों के शेयरों में लिवाली का जोर रहने से आज गुरूवार को लगातार चौथे दिन तेजी का रुख रहा।

सेंसेक्स 14 अंक की बढ़त के साथ 5300 अंक पर 44 माह के नए उच्चतम स्तर पर बंद हुआ। बीएसई में आज सुबह से ही मजबूती देखी गई। हालांकि तेजी पिछले दो दिन जैसी नहीं थी।

सत्र की शुरुआत में सेंसेक्स कल के 5285.54 अंक की तुलना में 5306.62 अंक पर खुला और ऊंचे में 5317.41 अंक तक गया।

इस दौरान नीचे में 5253.81 अंक तक गिरा और समाप्ति पर कुल 14.42 अंक अर्थात 0.27 फीसदी लाभ से 5299.96 अंक पर बंद हुआ।

औषधि क्षेत्र और ऑटोमोबाइल कंपनियों के शेयर मुनाफावसूली के चलते नीचे रहे जबकि तेल शोधन कंपनियों ने लाभांश भुगतान की उम्मीद में तेजी पाई।

सत्र के दौरान 19 करोड़ 90 लाख शेयरों के कामकाज में 971 कंपनियों के शेयरों में घाटा रहा जबकि 880 में फायदा रहा। फायदे वाली Ÿोणी में सर्वाधिक लाभ एचडीएफसी में रहा। इसका शेयर 4.05 फीसदी बढक़र 613.45 रुपए पर बंद हुआ।

मुंबई इंडियन ऑयल का शेयर कंपनी के निदेशक मंडल की अंतरिम लाभांश की घोषणा के लिए 26 दिसंबर को प्रस्तावित बैठक के मद्देनजर 5.7 फीसदी बढक़र 411.35 रुपए पर बंद हुआ।

एचपीसीएल में 404.20 रुपए पर 3.28 फीसदी तेजी आई। आईसीआईसीआई बैंक ने 284.05 रुपए पर 3.72 फीसदी की तेजी पाई।

एचडीएफसी बैंक, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज, एसबीआई, ओएनजीसी, विप्रो, एलएंडटी और हीरो होंडा भी फायदे में रहे। बीएसई में सर्वाधिक कारोबार सत्यम के शेयर में हुआ। इसमें 22652 सौदों में 4853236 शेयरों पर 163 करोड़ 20 लाख रुपए का कारोबार किया गया।

रिलायंस में 196 करोड़ 41 लाख रुपए के 3959707 शेयरों का लेनदेन हुआ। टिस्को, टाटा मोटर्स, जी टेली, हिंदुस्तान लीवर और महानगर टेलीफोन में भी गतिविधियां अच्छी रहीं।

घाटे वाली Ÿोणी में जी टेली का शेयर 2.36 फीसदी घटकर 138.90 रुपए का रह गया। सिप्ला, डॉ. रेड्डी लैब, टाटा मोटर्स, रिलायंस, रेनबैक्सी, भेल, आईटीसी और एसीसी का शेयर भी नीचा रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी आधा फीसदी बढक़र 1695.40 अंक पर बंद हुआ।