सीमा पर भीषण गोलाबारी जारी

 सीमा पर भीषण गोलाबारी जारी

जम्मू-कश्मीर में सीमा पर भारतीय सैनिक ठिकानों तथा नागरिक बस्तियों पर पाकिस्तान की गोलाबारी जारी है। पाकिस्तानी तोपों ने आज रविवार को श्रीनगर-लेह तथा पठानकोट-जम्मू राजमार्ग को निशाना बनाकर गोले दागे, लेकिन वार खाली गया। यह दोनों मार्ग सेना के लिए मह७वपूर्ण हैं।

जवाबी कार्रवाई में जवानों ने पाकिस्तान के 18 सैनिक मार गिराए तथा कई संचार केंद्र, चौकियां व बंकर तबाह कर दिए। इस झड़प में एक युवती सहित 2 नागरिक मारेे गए। सीमांत इलाकों से पलायन आज भी जारी रहा।

श्रीनगर में बीएसएफ प्रव०ता ने बताया कि सुरक्षा बलों ने आज तडक़े नवगांव बाईपास पर हुई भीषण मुठभेड़ में तहरीक-उल-मुजाहिदीन के स्वयंभू उपकमांडर मंजूर अहमद को मार गिराया।

घाटी में इसके अलावा पुलिस अधिकारी समेत 4 लोग मारे गए। पुलिस ने सीमांत जिले राजौरी के गुरदनबाला में कल रात तलाशी मुहिम के दौरान 109 विस्फोटक छड़ें, 6 रिमोट कंट्रोल प्रणालियां, 15 मीटर कारडे०स तथा 19 डेटोनेटर बरामद किए। जम्मू के भगवतीनगर में भी पुलिस ने आरडीए०स विस्फोटक के 1-1 किलो के 2 पैकेट, 2 डेटोनेटर तथा 2 पेंसिल बम बरामद किए।

जम्मू में सेना के सूत्रों ने बताया कि पाक के सैनिक नियंत्रण रेेखा पर स्थित पुंछ इलाके के नौशेरा, मंडी, स३िजयांपुर, केरी, करमारा तथा राजौरी के कुुछ से०टरों पर भारी गोलाबारी कर रहेे हैैं।

भारतीय जवानों ने नियंत्रण रेखा के पार पाकिस्तान अधिकृृत कश्मीर की 5 बड़़ी और मजबूत चौकियों को तबाह कर दिया। सतवाल, चुहा, लारी, कहूटा तथा बरकाई नामक इन पांचों चौकियों से पाक सैनिक पिछले दो दिनों से भारतीय क्षेत्रों पर गोलीबारी क र रहेे थे।

इन चौकियों पर तैनात 8-10 सैनिकों को भारतीय जवानों ने मार गिराया। शेष पाकिस्तानी सैनिकों को चौकियां छोड़क़र भागते हुुए देखा गया। इलाकेे में पाकिस्तान के 4 संचार केेंद्र तथा 10 बंकर नष्टï हुुए हैं।

पठानकोट-जम्मू राष्टï्र्रीय राजमार्ग के निकट कठुुआ, संाबा, हीरानगर, आर.एस.पुरा इत्यादि सै०टरों में गोलीबारी करके पाकिस्तान ने आज कई घुसपैठियों को भारतीय सीमा क्षेत्र में धकेेलने की कोशिश की। भारतीय जवानों की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान को मुंंह की खानी पड़़ी। इलाके में भी 6-7 पाकिस्तानी सैनिक मारेे गए तथा इतने ही बंकर तबाह हुुए।

उधर उड़़ी, गुरेेज, तथा सियाचिन्ह गलेशियर के सीमांत क्षेत्रों में भी पाकिस्तान ने तोपखाने से गोलाबारी जारी रखी। पाकिस्तान ने दूर तक मार करने वाली तोपों का इस्तेमाल करके श्रीनगर-लेह राष्टï्र्रीय राजमार्ग को लक्ष्य कर के गोले बरसाए। भारतीय सेना ने बोफोर्स तोपों से पाकिस्तान का भारी नुकसान किया। खास तौर से उड़़ी और गुरेेज में दोनों सेनाओं के बीच तोपें 3-4 घंटेे तक गरजती रहीं।

गौरतलब है कि 1999 में कारगिल युद्घ के समय भी पाकिस्तान ने श्रीनगर-लेह राष्टï्र्रीय राजमार्ग को उड़ाने के लिए एक महीने तक लगातार प्रयास किया था। अब की बार फिर पाकिस्तान इन दोनों मार्गों पर (श्रीनगर-लेह तथा पठानकोट-जम्मू) अपना सारा ध्यान केेंद्र किए हुए है।

गोवा में पार्रीकर ने स७ाा संभाली

गोवा के राज्यपाल मोहम्मद फजल ने आज सोमवार सुबह काबो राज निवास में मुख्यमंत्री मनोहर पार्रीकर समेत 13 मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। भाजपा नीत गठबंधन सरकार में यूनाइटेड गोवंस डेमोक्रेटिक पार्टी और महाराष्टï्रवादी गोमांतक पार्टी के दो-दो तथा एक निर्दलीय समेत छह नए चेहरे शामिल हैं।

नए मंत्रिमंडल में सात पूर्व मंत्री हैं। उल्लेखनीय है कि 30 मई को हुए गोवा चुनाव में 17 सीटों के साथ भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी। कांग्रेस 16 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर रही।

असम में मस्तिष्क ज्वर का तांडव जारी,86 लोग मरे

भीषण बाढ़ से प्रभावित असम में पिछले महीने के दौरान जापानी मस्तिष्क ज्वर से 86 लोगों की मौत हुई। राज्य सरकार ने इस महामारी से मुकाबले के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से तत्काल मदद मांगी है। असम के स्वास्थ्य मंत्री भूमिधर बर्मन ने आईएएनएस को बताया कि उन्होंने आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से तत्काल मदद मांगी।

उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से मस्तिष्क ज्वर-रोधी टीके उपल३ध कराने का अनुरोध किया, ०योंकि राज्य में यह बीमारी महामारी का रूप लेती जा रही है। उनके अनुसार एक टीके की कीमत लगभग तीन हजार रुपये है। राज्य सरकार के पास इतना संसाधन नहीं है कि वह राज्य में बाढ़ से सबसे अधिक प्रभावित जिलों में हजारों लोगों को मुफ्त टीका लगाने के खर्च का बोझ सह सके।

डिब्रूगढ़ जिले में असम मेडिकल कॉलेज की प्रधानाचार्य नंदिता चौधरी ने बताया कि पिछले महीने के दौरान सिर्फ उनके संस्थान में जापानी-बी मस्तिष्क ज्वर से 80 लोगों की मौत हुई। उनके अनुसार उनके संस्थान में मौजूदा समय में इस रोग से पीडि़त 10 लोगों का इलाज किया जा रहा है और इनमें अधिकतर बगो हैं। इस रोग से पीडि़त 5-10 लोग हर रोज अस्पताल पहुंच रहे हैं। स्थिति खतरनाक हो गई है, ०योंकि इस बीमारी के इलाज के लिए कोई खास औषधि उपल३ध नहीं है।

बहरहाल, मोरीगांव और धेमजी जिले में कल रात बाढ़ के पानी में पांच लोग बह गए। इससे राज्य में बाढ़ में मरने वाले लोगों की संख्या बढक़र 41 हो गई है। राज्य में बाढ़ की स्थिति में सुधार हो रहा है, ०योंकि ब्रह्मïपुत्र नदी का जलस्तर घटा है। असम के बाढ़ नियंत्रण मंत्री नूर जमाल सरकार ने आईएएनएस को बताया कि आने वाले दिनों में बाढ़ की स्थिति में लगातार सुधार की संभावना है।